viralkhabri.com

Satyendra Jain को तिहाड़ जेल में मसाज देने के मामले ने पकड़ा नया रुख , मालिश करने वाला निकला रेप आरोपी ?

 
सायेतंद्र जेन

देश की ही नहीं बल्कि एशिया की सबसे सुरक्षित जेलों में शुमार तिहाड़ में बंद मंत्री Satyendra Jain को मसाज देने के मामले में नया मोड़ आ गया है। सूत्रों के अनुसार सत्येंद्र जैन को मसाज देने वाला रिंकू फिजियोथेरेपिस्ट नहीं बल्कि दुष्कर्म आरोपी है।

नई दिल्ली, जागरण डिजिटल डेस्क। मनी लॉन्ड्रिंग मामले में दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद मंत्री सत्येंद्र जैन को फिजियोथेरेपी देने के मामले में अब एक चौंकाने वाला खुलासा सामने आया है। तिहाड़ जेल सूत्रों के अनुसार, जेल में बंद दिल्ली के मंत्री सत्येंद्र जैन की मालिश करने वाला रिंकू एक कैदी है, जबकि पहले यह दावा किया गया था कि वह फिजियोथेरेपिस्ट है। वहीं, आम आदमी पार्टी की ओर से भी आधिकारिक रूप से कहा गया था कि जेल में सत्येंद्र जैन को फिजियोथेरेपी दी जा रही है। ऐसे में इस खुलासे के बाद दिल्ली नगर निगम चुनाव 2022 के मद्देनजर इस पर दिल्ली की राजनीति फिर गरमाने वाली है।  

पूर्व में बताया गया था फिजियिथेरेपिस्ट
वहीं, यह जानकारी भी सामने आ रही है कि रिंकू दुष्कर्म के मामले में आरोपित है और वह जेल में ही एक  कैदी है। इस कैदी पर POCSO अधिनियम की धारा 6 और IPC की धारा 376, 506 और 509 का आरोप लगाया गया है। पूर्व में उसे फिजियोथेरेपिस्ट बताया गया था। 

कोर्ट में वीडियो वायरल होने के मामला
बता दें कि फिलहाल न्यायिक हिरासत में तिहाड़ जेल में बंद दिल्ली के कैबिनेट मंत्री सत्येंद्र जैन की मसाज का वीडियो वायरल होने के बाद 19 नवंबर को दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट ने प्रवर्तन निदेशालय को नोटिस जारी किया था। इसमें लीक वीडियो के लेकर ईडी से अगली सुनवाई में जवाब मांगा गया है।

गौरतलब है कि सत्येंद्र जैन की लीगल टीम ने विशेष न्यायाधीश विकास ढुल की कोर्ट में याचिका दायर कर आरोप लगाया है कि शपथ पत्र देने के बावजूद ईडी ने जेल के अंदर लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज को लीक किया है।  

ईडी का दावा, जेल में सत्येंद्र जैन को दी जा रही विशेष सुविधा
बता दें कि 9 नवंबर को जमानत अर्जी का विरोध करते हुए ईडी की तरफ से आरोप लगाया गया था कि तिहाड़ जेल में सत्येंद्र जैन को विशेष सुविधाएं मिल रही हैं। ईडी ने अपना पक्ष रखते हुए यह भी कहा था कि जेल के अंदर बाहरी लोग उनकी मसाज करने आते हैं। यह भी दावा किया था कि सत्येंद्र जैन को विशेष भोजन दिया जा रहा है।

ईडी ने दिया था वीडियो न लीक करने का शपथ पत्र
इसके साथ ही ईडी ने अपने इस आरोप के संबंध में सीसीटीवी फुटेज भी कोर्ट को दिखाई थी। इस दौरान यह शपथ पत्र भी दिया था कि वह इस वीडियो को किसी को नहीं देंगे। इसके बाद 19 नवंबर की सुबह जेल में सत्येंद्र जैन की मसाज का एक वीडियो वायरल हुआ तो उनकी लीगल टीम ने कोर्ट का रुख किया है।