viralkhabri.com
Top Ki Flop: टू-पीस बिकनी में करीना के साइज जीरो ने मचाया तहलका, लेकिन दूसरी वजहों से फ्लॉप हुई फिल्म
 
kr

करीना कपूर फिल्म: करीना कपूर खान ने कई फिल्मों में बोल्ड किरदार निभाए और हीरो के साथ इंटिमेट सीन करने में भी उन्होंने कोई झिझक नहीं दिखाई। अपने 22 साल लंबे करियर में उन्होंने सिर्फ एक फिल्म टशन में टू-पीस बिकिनी पहनी थी और सच तो यह है कि उनके अवतार ने तहलका मचा दिया था.

महीनों मेहनत करके करीना ने अपना फिगर जीरो साइज कर लिया और इसके बाद देशभर की लड़कियों में पतले होने का क्रेज पैदा हो गया। करीना की साजी-जीरो तो फैशन मॉडल और बॉलीवुड हीरोइनों के लिए आदर्श बन गई, लेकिन टशन और टिकट रेवेन्यू के प्रोड्यूसर्स और मल्टीप्लेक्स में इस तरह का विवाद हुआ कि फिल्म फ्लॉप हो गई।

भैयाजी और बच्चन पांडे ने साधा निशाना
2008 की फिल्म टशन का निर्माण यशराज फिल्म्स ने किया था। फिल्म के प्रमोशन में कोई कमी नहीं छोड़ी। बहुत प्रचार हुआ और टशन 2008 की सबसे लोकप्रिय फिल्म बन गई। इस फिल्म से कुछ दिनों पहले करीना और सैफ अली खान का रोमांस शुरू हुआ था, जो शूटिंग के दौरान परवान चढ़ा था।

टशन में अक्षय कुमार भी थे और अनिल कपूर, जो अपने पूरे शरीर के बालों के लिए जाने जाते हैं, ने फिल्म के लिए अपनी छाती के बाल मुंडवा लिए थे क्योंकि वहां टैटू बनवाना था। इस फिल्म से अनिल कपूर 17 साल बाद यशराज कैंप में लौटे थे, जबकि अक्षय इस प्रोडक्शन हाउस के साथ 11 साल बाद आए थे।

फिल्म गैंगस्टर्स की कहानी थी, जिसमें भैयाजी से अनिल कपूर बने अंग्रेजी सीखने का भूत सवार है। सैफ उसे अंग्रेजी पढ़ाते हैं और भैयाजी के साथ रहने वाली पूजा (करीना कपूर) से प्यार करने लगते हैं। भैयाजी के 25 करोड़ रुपये उड़ाकर दोनों भाग जाते हैं।

अब इन दोनों के पीछे भैया जी को आदर्श मानने वाले बच्चन पांडे (अक्षय कुमार) हैं। इसके अलावा भी कहानी में कई ट्विस्ट एंड टर्न्स आते हैं। यह पहली फिल्म थी जिसमें अनिल कपूर ने खलनायक की भूमिका निभाई थी।

विवाद में नुकसान
दर्शकों को फिल्म पसंद नहीं आई, लेकिन इसके जबरदस्त प्रमोशन को लेकर क्रेज काफी था। चलिया छलिया... गाने की शुरुआत में हरे रंग की टू-पीस बिकिनी पहने और नदी में उतरती करीना का सीन भी लोगों को खूब अट्रैक्ट कर रहा था।

लेकिन सबसे बड़ी दिक्कत आई, यशराज और मल्टीप्लेक्स के विवाद की वजह से। नतीजा यह हुआ कि फिल्म एक हफ्ते तक सिर्फ सिंगल स्क्रीन पर ही रही और दूसरे हफ्ते में जब दोनों पक्षों के बीच टिकट रेवेन्यू शेयरिंग का विवाद सुलझ गया तो टशन मल्टीप्लेक्स में आ गई।

लेकिन तब तक काफी नुकसान हो चुका था। फिल्म की रिपोर्ट लोगों तक पहुंच चुकी थी और वह भी फिल्मों की सीडी-पाइरेसी का जमाना था। परिणाम फ्लॉप के रूप में दर्ज किया गया था।

अक्षय उन दिनों सफलता की लहर पर सवार थे और 2006-07 में भागमभाग, नमस्ते लंदन, हे बेबी, भूलभूलैया और वेलकम की लगातार बॉक्स ऑफिस सफलताओं के बाद यह उनकी पहली फ्लॉप फिल्म थी।