viralkhabri.com
Shahrukh Khan: दीवाना नहीं बल्कि ये है SRK की डेब्यू फिल्म, जिसमें निभाया था 'गे' स्टूडेंट का रोल
 
s

Shahrukh Khan 57th Birthday: वैसे तो बॉलीवुड फिल्मों और शाहरुख खान (Shahrukh Khan) के फैंस को पता है कि किंग खान ने साल 1992 में फिल्म 'दीवाना' के साथ बॉलीवुड में अपनी शुरुआत की थी. उनके फैंस ये भी जानते हैं कि उन्होंने जो पहली फिल्म साइन की थी वो 'राजू बन गया जेंटलमैन' थी लेकिन वो 'दीवाना' के बाद में रिलीज हुई थी.

हालांकि, न तो शाहरुख की पहली फिल्म 'दीवाना' थी और न ही वो जो बाद में रिलीज हुई थी. दरअसल, इन दोनों फिल्मों के लिखे जाने से बहुत पहले जब शाहरुख दिल्ली में एक स्ट्रगलर एक्टर थे, तब उन्होंने दूरदर्शन की एक अंग्रेजी मूवी के साथ फिल्मों में अपनी शुरुआत की थी. अब ये एक भूली-बिसरी फिल्म रह गई है जिसके बारे में कम ही लोगों को पता है. इस फिल्म का नाम है, 'इन विच एनी गिव्स इट दूज वन्स' (In Which Annie Gives It Those Ones).

 

अग्रेजी फिल्म से किया डेब्यू

फिल्म में अर्जुन रैना अहम भूमिका में थे जो दिल्ली के स्कूल ऑफ प्लानिंग एंड आर्किटेक्चर में एक आर्किटेक्चर स्टूडेंट है. इस फिल्म को प्रदीप कृष्ण ने डायरेक्ट किया था और अरुंधति रॉय ने फिल्म कहानी लिखी थी. अरुंधति ने फिल्म में लीड फीमेल 'राधा' का रोल भी किया था. इसमें शाहरुख के दो सीन थे जिसमें वो एक समलैंगिक की भूमिका निभाते हैं.

आपको बता दें कि 'इन विच एनी गिव्स इट दूज वन्स' (In Which Annie Gives It Those Ones) में मनोज बाजपेयी भी कुछ पल के लिए नजर आते हैं. इन दोनों के अलावा फिल्म में रघुवीर यादव, दिव्या सेठ और हिमानी शिवपुरी जैसे कलाकार भी नजर आए. आप भी देखें शाहरुख की पहली फिल्म जिसका लिंक हमने यहां दिया है

शाहरुख को पहचानना हुआ मुश्किल

यहां तक इस फिल्म में शाहरुख खान की आवाज भी इतनी अलग लग रही है कि फैंस को लग रहा है कि किसी और ने उनकी आवाज डब की है. वहीं,  90 के दशक में एक इंटरव्यू के दौरान शाहरुख खान ने बताया था कि वो शूटिंग के दौरान काफी घबराए हुए और असहज थे.

शाहरुख की फिल्म In Which Annie Gives It Those Ones टीवी के लिए बनाई गई थी जो कभी भी बड़े पर्दे पर रिलीज नहीं हुई. इसे साल 1989 में दूरदर्शन पर दिखाया गया था. तब तक, शाहरुख अपने पॉपुलर टीवी शो 'फौजी' के जरिए फेमस हो चुके थे.

उस वक्त इस फिल्म को काफी पसंद किया गया था. इतना ही नहीं शाहरुख की इस फिल्म ने दो राष्ट्रीय पुरस्कार जीते थे. अफसोस की बात है कि फिल्म का ओरिजिनल प्रिंट खो गया है. वहीं, साल 2015 में YouTube पर एक डिजिटली रीमास्टर्ड एडिशन ने इस फिल्म को अपलोड किया था जिसका प्रिंट ठीक-ठाक ही है.