viralkhabri.com

मेरा होने वाला मंगेतर दुर्गा पूजा पंडाल में मेरी बेस्टी के साथ इश्क लड़ा रहा था

 
besti
किसी ने ठीक कहा है कि लंबी दूरी वाले रिश्तों का कोई भरोसा नहीं होता। ऐसा इसलिए क्योंकि इस तरह की रिलेशनशिप में प्‍यार बनाए रखना कभी-कभार बहुत मुश्किल हो जाता है। इस दौरान न केवल साथी के धोखा देने की संभावना बहुत ज्यादा बढ़ जाती है बल्कि वह साथ होते हुए भी साथ नहीं होता। मैं भी बिल्कुल ऐसे ही फेज से गुजर चुकी हूं। दरअसल, यह बात साल 2018 की है, जब आठ साल की रिलेशनशिप के बाद मैं अपने बॉयफ्रेंड से शादी करने जा रही थी। मेरे पैरेंट़स ने खुशी-खुशी मेरा रिश्‍ता मेरे बॉयफ्रेंड के साथ तय कर दिया था। हम सब बहुत खुश थे। हम दोनों का परिवार भी इस रिश्ते से हैप्पी था। साल के अंत में मेरी शादी की तारीख भी फिक्स हो गई थी।

मैं आपको बता नहीं सकती कि उसके साथ मैं अपना पूरा जीवन बिताने के लिए कितनी ज्यादा उत्साहित थी। हालांकि, इसका एक कारण यह भी था कि हम दोनों काफी समय से अलग-अलग राज्‍यों में रह रहे थे, जिसकी वजह से हमने ज्यादातर समय लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में रहकर ही बिताया था। दरअसल, एक अच्‍छा मौका मिलने के बाद मैं जॉब के लिए पुणे शिफ्ट हो गई थी। इस दौरान मुझे कोलकाता छोड़ना पड़ा था। हालांकि, अपने प्यार और परिवार को छोड़ते हुए मुझे काफी दुख हो रहा था। ऐसा इसलिए क्योंकि अब लंबी दूरी का रिश्‍ता बनाए रखना मेरे लिए बहुत ज्‍यादा मुश्किल होने वाला था। लेकिन शुक्र है कि सब कुछ ठीक चला। हमारे बीच छोटे-छोटे झगड़े होते थे, लेकिन इससे कभी हमारे रिलेशन पर कोई असर नहीं पड़ा। 

मैं उसे सरप्राइज देना चाहती थी

दरअसल, साल 2018 में दुर्गा पूजा के दौरान मैं अपने परिवार के साथ समय बिताने के लिए पुणे से कोलकाता आई थी। इस दौरान मैं काफी ज्यादा एक्साइटेड थी। ऐसा इसलिए क्योंकि मेरा होने वाला जीवनसाथी भी मुझे मिलने आने वाला था। अपने सामने उसे देखकर मैं पूरी तरह हैरान रह गई थी, क्योंकि वह पहले से भी ज्‍यादा स्‍मार्ट और हैंडसम दिख रहा था।

हालांकि, मैं उसके साथ कुछ वक्‍त पंडाल में ही बिताना चाहती थी। लेकिन इस दौरान मैं इतनी ज्यादा थकी थी कि मैंने कुछ देर आराम करने का फैसला किया। यही एक वजह भी है कि मैं उसे सरप्राइज देने के लिए पास के पंडाल में ही ठहर गई।

मुझे ही मिल गया सरप्राइज

दुर्गा पूजा की उसी शाम सज-धजकर मैं पास के पंडाल में पहुंच गई। मां के जयकारे और ढोल-नगाड़े की आवाजें मुझे उत्साहित कर रही थी। लेकिन वहां पहुंचकर मैंने जो देखा, उसने मुझे झकझोर कर रख दिया। दरअसल, मेरा लवर किसी अन्‍य महिला के साथ हंस बोल रहा था। वह महिला कोई और नहीं बल्कि मेरी एक्‍स बेस्‍टफ्रेंड थी, जिससे कुछ साल पहले ही मेरी बातचीत बंद हो गई थी। हमने एक-दूसरे से आज तक बात नहीं की थी।

ऐसे में उसे अपने बॉयफ्रेंड के साथ देखकर मुझे बहुत गुस्‍सा आ गया। वह हमारे पड़ोस में ही रहती थी, इसलिए मुलाकात होना स्वाभाविक था। मैं अपने घर वापस आ गई और अपने बॉयफ्रेंड को मुझसे वहीं मिलने को कहा ताकि हम कहीं और बाहर जा सकें। ऐसा इसलिए क्योंकि मुझे अपनी एक्‍स बेस्‍टी से मिलने में कोई दिलचस्‍पी नहीं थी।

लवर्स की तरह हाथ पकड़े हुए थे दोनों

मैंने इस घटना के बारे में सोचना लगभग छोड़ ही दिया था। ऐसा इसलिए क्योंकि हमारे बीच सब कुछ अच्‍छा चल रहा था। पूजा के आखिरी दिन को छोड़कर मेरी तबीयत भी ठीक नहीं रही और अगले दिन मेरी पुणे की फ्लाइट भी थी। ऐसे में मैंने सोचा कि जिस काम के लिए मैं आई थी, उसे पूरा करना चाहिए। मैंने दुर्गा पूजा मनाने का फैसला किया। मैंने बहुत हिम्‍मत जुटाई और दुर्गा पंडाल में पहुंच गई।

वहां जाकर मैंने देखा कि मेरा बॉयफ्रेंड न केवल मेरी फ्रेंड का हाथ पकड़े हुए है बल्कि वह दोनों एक-दूसरे को प्‍यार से देख भी रहे हैं। वह दोनों एक-दूसरे को इस तरह से देख रहे थे जैसे कि लवर्स हों। यह सब देख मैं शॉक्‍ड थी। मुझे बहुत गुस्‍सा आया। मैं उसके पास गई। मुझे देखकर वह एकदम जम सा गया था। उसे देख ऐसा लग रहा था जैसे कि उसने कोई भूत देख लिया हो।

उसने हम दोनों को धोखा दिया

मैंने उससे पूछा यह सब क्‍या चल रहा है। मेरी फ्रेंड ने कहा कि वह अपने लवर का हाथ पकड़ी हुई है, तो मुझे प्रॉब्लम क्‍यों रही है। उसकी इस बात ने मुझे कंफ्यूज कर दिया। मैंने कहा कि वह मेरा बॉयफ्रेंड है। हम 8 साल से रिश्ते में हैं। यह सब सुनकर मेरी एक्‍स बेस्‍टी चौं‍क गई। उसने कहा कि हम साल 2017 से साथ हैं।

हम दोनों के सामने वो बेशर्म आदमी अपना सिर नीचे झुकाकर खड़ा था। एक पल के लिए मुझे लगा कि मैं उसे थप्पड़ मार दूं लेकिन मैंने ऐसा नहीं किया। यह सब सुन मैं बुरी तरह टूट गई थी। ऐसा इसलिए क्योंकि हम कुछ दिनों में शादी करने वाले थे। वहीं वह मुझे धोखा दे रहा था।

हम दोबारा अच्‍छे दोस्‍त बन गए

इससे पहले कि मैं कुछ सोच पाती, मेरी फ्रेंड ने उसे थप्पड़ मार दिया। इसके तुरंत बाद अगला थप्पड़ मैंने मारा। पूरी भीड़ हमारी तरफ देखने लगी थी। हम दोनों ने उसका पूरा सच सबके सामने बताया। इसके बाद मैं और मेरी फ्रेंड हमारे घर मिले। हम दोनों का ही दिल टूटा था। मेरी फ्रेंड ने मेरे ऊपर हाथ रखा और मुझे इस सबके से बाहर निकलने की हिम्‍मत दी। आज मैं और मेरी एक्‍स बेस्‍टी सबसे अच्‍छे दोस्‍त बन गए हैं। उस आदमी के कारण हमारी दोस्‍ती मजबूत हो गई, जोकि धोखे वाले रिश्ते में रहने से ज्यादा बेहतर है।