viralkhabri.com
मेरी कहानी: मैं अपने पति को खुश रखने के लिए दिखावा करती हूं, जबकि मैं उनसे नफरत करती हूं, मेरा इस शादी में रहने का मन नहीं करता
 
copal

मुझे अपने पति से नफरत है। ऐसा इसलिए क्योंकि वह बिल्कुल भी अच्छे इंसान नहीं है। वह न केवल मुझे परेशान करते हैं बल्कि मेरे माता-पिता से भी उनको दिक्कत है। मुझे समझ नहीं आ रहा कि मैं इस शादी से छुटकारा कैसे पाऊं। क्या मेरा इस बारे में अपने पति से बात करना सही रहेगा या नहीं।

सवाल: मैं एक शादीशुदा महिला हूं। मेरा वैवाहिक जीवन बिल्कुल भी अच्छा नहीं चल रहा है। दरअसल, मेरे पति बहुत ज्यादा गुस्से वाले इंसान हैं, जोकि मेरे लिए सबसे बड़ी समस्या बनती जा रही है। मुझे उनसे बहुत डर लगता है। वह हमेशा मुझ पर चिल्लाते रहते हैं। वह न तो मेरे माता-पिता का सम्मान करते हैं और न ही उनसे कोई उपहार लेते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि उन्हें लगता है कि मेरे पैरेंट्स उन पर कोई उपकार कर रहे हैं।

dikhawa

मैं भी इस बारे में ज्यादा कुछ नहीं कह पाती हूं। इसका सबसे बड़ा कारण क्योंकि मेरे ज्यादा बोलने से हमारे बीच केवल झगड़े ही होते हैं। मैं अपनी शादी में केवल घुटन महसूस करती हूं। मेरी हालत कुछ ऐसी है कि मैं उनसे न केवल नाराजगी बल्कि नफरत भी करती हूं। मैं इस शादी से बिल्कुल भी खुश नहीं हूं। मैं उनके साथ नहीं रहना चाहती। लेकिन मुझे समझ नहीं आ रहा कि मैं अपने पति से इस बारे में कैसे बात करूं?

एक्सपर्ट का जवाब

dikhawa 2

होप केयर इंडिया में क्लिनिकल साइकोलॉजिस्ट ओमिका ओबराय कहती हैं कि मैं आपकी चिंता का अंदाजा अच्छे से लगा सकती हूं कि ऐसे रिश्ते में फंसकर आप कितना दुखी महसूस कर रही होंगीं। भय-क्रोध, खुशी, उदासी, घृणा और आश्चर्य, हम सभी डिफॉल्ट रूप से इन छह भावनाओं से संपन्न हैं।

लेकिन यहां ध्यान देने वाली बात यह है कि इनकी तीव्रता हर व्यक्ति में अलग-अलग होती है। कुछ लोग जहां क्रोध को नकारात्मक भावना के रूप में परिभाषित करते हैं, तो कइयों में यह अपनी बात मनवाने के लिए सही लगता है। ऐसे लोग यह भूल जाते हैं कि अनियंत्रित क्रोध केवल संघर्ष की भावना को जन्म देता है।

बात करने की करें कोशिश

baat kare
जैसा कि आपने बताया कि आपके पति हर टाइम गुस्से में रहते हैं। वह आपके माता-पिता को कुछ भी नहीं समझते हैं। ऐसे में मैं आपको केवल एक सलाह देना चाहती हूं कि आप चाहें तो एक बार मानसिक स्वास्थ्य पेशेवर की मदद से इस मुद्दे पर समाधान पा सकती हैं। वहीं बात रही आपके परिवारवालों के साथ उनके अनादर करने की, तो इस पर आप एक बार उनके साथ स्वस्थ बातचीत कर सकती हैं।

इस दौरान आप उन्हें बता सकती हैं कि किस तरह ससुरालवालों के साथ उनके संबंध खराब हो रहे हैं। अगर आपके बात करने पर वह आपके साथ बुरा बर्ताव करते हैं, तो अपने ससुरालवालों से बात करें। उन्हें बताएं कि आपके पति का गुस्सा कैसे आपकी शादी को खराब कर रहा है।

मदद लेना गलत नहीं

madat
जैसा कि आपने कहा कि आप इस शादी से बाहर निकलना चाहती हैं, तो ऐसे में मैं आपसे यही कहूंगी कि जल्दबाजी में कोई फैसला न लें। मैं जानती हूं कि इस तरह के माहौल में रहना मानसिक रूप से बहुत हानिकारक होता है, लेकिन इसके बाद भी मैं आपसे यही कहूंगी कि थोड़ा धैर्य से काम लें। मुझे कहीं न कहीं लग रहा है कि आपके पति को करुणा-समर्थन और सहानुभूति की जरूरत है। अपनी शादी को तोड़ने की बजाए उसे बेहतर बनाने पर काम करें। आप चाहें तो इसके लिए पेशेवर मदद भी ले सकती हैं।