viralkhabri.com

हरियाणा सरकार ने जिला सैनिक एवं अर्धसैनिक कल्याण विभाग से वित्तीय सहायता ( पेंशन ) लेने से संबंधित पॉलिसी में संशोधन किया है।

 
pension

हरियाणा सरकार ने जिला सैनिक एवं अर्धसैनिक कल्याण विभाग से वित्तीय सहायता ( पेंशन ) लेने से संबंधित पॉलिसी में संशोधन किया है। सरकारी कर्मचारी  ने बताया कि विभाग से वित्तीय सहायता प्राप्त करने वाले सभी लाभार्थी साल में एक बार नवंबर के महीने में अपना जीवन प्रमाण-पत्र उनके संबंधित जिला सैनिक और अर्ध सैनिक कल्याण कार्यालय में जमा करवाना अनिवार्य  होगा। अगर वित्तीय सहायता का लाभार्थी व्यक्ति हस्ताक्षरित 'जीवन प्रमाण पत्र' उसके संबंधित गांव/क्षेत्र के राजस्व अधिकारियों अर्थात ग्राम पंचायत के सरपंच, नम्बरदार, राजस्व पटवारी / कानूनगा, तहसीलदार / वार्ड पार्षद / राजपत्रित अधिकारी" द्वारा विधिवत सत्यापित किया जाता है तो उसको व्यक्तिगत रूप से प्रस्तुत होने की आवश्यकता नहीं है। यदि वित्तीय सहायता का लाभार्थी अपना जीवन प्रमाण-पत्र देय तिथि 30 नवंबर के बाद प्रस्तुत करता है तो व्यक्ति से समय पर जीवन प्रमाण पत्र प्रस्तुत न करने का कारण/औचित्य मांगा जा सकता है और उसकी वित्तीय सहायता तुरंत शुरू की जा सकती है और उसे बकाया भुगतान भी किया जा सकता है।

यदि कोई लाभार्थी अपना जीवित होने का प्रमाण-पत्र 30 नवम्बर तक प्रस्तुत नहीं करता है तो सैनिक एवं अर्ध सैनिक कल्याण कार्यालय के संबंधित कल्याण अधिकारी द्वारा उसकी वित्तीय सहायता का भुगतान तुरता फुरत  रोक दिया जाएगा। विभागीय अधिकारी को संबंधित व्यक्ति को टेलीफोन पर और इसके लिए सूचित भी करना चाहिए। अगर 10 दिसंबर तक उत्तरजीविता प्रमाण पत्र जमा नहीं करवाया जाता है तो उनके स्थायी/पत्राचार पते पर एक पंजीकृत पत्र भेजकर उनकी वित्तीय सहायता रोकने की जानकारी देनी चाहिए और कहना चाहिए कि वे अपना उत्तरजीविता प्रमाण पत्र तुरंत जमा करें। यदि 31 दिसंबर तक लाभार्थी की ओर से कोई उत्तर प्राप्त नहीं होता है, तो संबंधित लाभार्थी को अनुस्मारक पत्र भेजना चाहिए। उन्होंने बताया कि यदि अगले वर्ष 31 जनवरी तक लाभार्थी से कोई प्रतिक्रिया प्राप्त नहीं होती है,तत्पश्चात् संबंधित अधिकारी या कर्मचारी संबंधित लाभार्थी के घर के पते पर जाकर ग्राम नंबरदार/सरपंच/वार्ड पार्षद के पास जाकर लाभार्थी के रहन-सहन की स्थिति के बारे में अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करेगा और तदनुसार कार्रवाई शुरू करेगा। वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए अन्य सभी नियम और शर्तें अपरिवर्तित रहेंगी।