cricket sports

हिंदी न्यूज़ – Heat Wave in England Will help Indian Spinners, say Maninder & Prasanna- इंग्लैंड में पड़ रही है गर्मी, टीम इंडिया की होगी चांदी


इंग्लैंड में इस समय काफी गर्मी पड़ रही है. इसी को देखते हुए मेजबान इंग्लैंड टीम ने भारत के खिलाफ टेस्ट सीरीज के लिए स्पिनर आदिल रशीद को संन्यास से वापस बुला लिया है. भारत और इंग्लैंड के बीच पहला टेस्ट एजबेस्टन में एक अगस्त से खेला जाएगा. ऐसे में जाहिर है कि मेज़बान टीम इंडिया अपनी स्पिनर तिकड़ी आर. अश्विन, कुलदीप यादव और रविंद्र जडेजा के जरिए इंग्लैंड के सामने कड़ी चुनौती पेश करना चाहेगी.

भारत के इंग्लैंड दौरे के बारे में पूर्व भारतीय क्रिकेटर मनिंदर सिंह ने क्रिकेटनेक्स्ट से बातचीत की. मनिंदर साल 1986 में इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज 2-0 से जीतने वाली टीम इंडिया का हिस्सा रहे थे. उन्होंने इस सीरीज में 15.58 की औसत से 12 विकेट झटके थे. उन्होंने कहा कि जब विराट कोहली पहले टेस्ट के लिए 2-3 स्पिनर चुनेंगे तो उनके लिए फॉर्म और लय सबसे जरूरी पहलू होंगे. उन्होंने कहा कि जिस तरह की गर्मी इंग्लैंड में पड़ रही है उसे देखते हुए अकेले स्पिनर को खिलाने से बात नहीं बनेगी.

उन्होंने कहा, “मौसम के मिजाज़ को देखते हुए दोनों टीमें एक से ज्यादा स्पिनर्स मैदान में उतारेंगी. ऐसी परिस्थिति में मैं चाहूंगा कि अश्विन और कुलदीप को मौका दिया जाए. इसकी सीधी वजह ये है कि दोनों ही विकेट लेने में माहिर हैं. आपको विदेशी धरती में विकेट लेने वाले गेंदबाजों की जरूरत होती है. अगर मेरे स्पिनर 30 ओवरों में 120 रन देते हुए 5 विकेट झटकते हैं तो मुझे खुशी होगी.”

उन्होंने आगे कहा, “जडेजा बल्लेबाजी भी कर लेते हैं और इस तरह से वह रन बनाने का विकल्प भी आपको देते हैं, लेकिन मैं कम प्रभावी रहने वाले क्रिकेटर्स का बड़ा फैन नहीं रहा हूं. मुझे ऑलराउंडर्स पसंद हैं लेकिन थोड़ी बहुत बैटिंग, थोड़ी बहुत बॉलिंग मुझे नहीं जमती.”लीजेंडरी भारतीय ऑफ-स्पिनर इरापल्लि प्रसन्ना, जो 1960-70 में भारतीय टीम का हिस्सा रह चुके हैं. उन्होंने मनिंदर सिंह की बात को माना और कहा कि इंग्लैंड के मौसम का मिजाज भारतीय
टीम के लिए मददगार साबित होगा. उन्होंने कहा, “टीम में स्पिनर अपना काम बखूबी जानते हैं. उन्हें मौसम से मदद मिलेगी और साथ ही उनके पास विराट कोहली के रूप में एक शानदार कप्तान है. ऐसे में गेंद और बैट के बीच दिलचस्प जंग देखने को मिलेगी.”

सिंह ने कहा कि अश्विन का काउंटी अनुभव उन्हें ज्यादा प्रभावी बनाएगा. गौरतलब है कि पिछले साल अश्विन काउंटी में वॉरसेस्टरशायर की ओर से चार मैच खेले थे और इस दौरान उन्होंने 20 विकेट झटके थे. साथ ही उन्होंने दो पांच विकेट हॉल भी लिए थे. उनका बैट से भी 42 का औसत रहा था.

उन्होंने कहा, “देखिए, अश्विन सिर्फ वॉरसेस्टशायर की ओर से खेले ही नहीं बल्कि उन्होंने विकेट भी झटके. जिसका मतलब है कि उन्हें पता है कि किस लाइन में यहां गेंदबाजी करनी है. साथ ही कुलदीप यादव फॉर्म में हैं. उन्होंने सीमित ओवर सीरीज में इंग्लैंड के बल्लेबाजों को परेशान किया था. ऐसे में वह टेस्ट में आक्रामक फील्ड के होने से और भी ज्यादा असर दिखाएंगे.”
ये भी पढ़ें: धवन ने कोहली और पुजारा को लेकर किया ऐसा ट्वीट, हो गए ट्रोल



Source link