Featured Social

भाजपा संगठन और आईटी सेल में व्यापक बदलाव के संकेत, राम माधव की टीम ने की दिल्ली में बैठक | ram madhav and team meeting in delhi several changes may take place in bjp

https://hindi.oneindia.com/img/2018/06/df5tiblx0aeigyr-1529322242.jpg


नई दिल्ली: हाल ही में बीते पूर्वोत्तर चुनावों में जीत का श्रेय एक ओर जहां सभी ने ‘चाणक्य’ कहे जाने वाले अमित शाह की रणनीति और कुशल नेतृत्व को दिया वहीं एक तबक़ा ऐसा भी था जो पूर्वोत्तर की जीत को राम माधव और उनकी टीम की बता रहा था। हालांकि संगठन की तरफ से राम माधव और उनकी टीम मुख्यतः रजत-शुभ्रस्था की भूमिका पर दो टूक तो नहीं कहा गया पर उनके काम को सराहा ज़रूर गया जिसके बाद राममाधव और उनकी टीम को राजनीतिक रणनीतिकारों के रूप में देखा जाने लगा है।

ram madhav and team meeting in delhi several changes may take place in bjp

ऐसे में दिल्ली में बुलाई गयी सोशल मीडिया के धुरंधरों की बैठक राम माधव और शुभ्रस्था के साथ हुई जिसे एक अलग ही संकेत के रुप में देखा जा रहा है। खबर है कि 2019 लोकसभा चुनाव के पहले पार्टी में राम माधव के नेतृत्व में एक समानांतर व्यवस्था बनाने की कवायद शुरू की जा रही है, हालांकि इसको लेकर आधिकारिक राय काफ़ी अलग है। इस कार्यक्रम में अरविंद गुप्ता और आईटी प्रकोष्ठ के संयोजक अमित मालवीय मौजूद ज़रूर थे पर उनकी राय इस मामले में नहीं ली गई।

ram madhav and team meeting in delhi several changes may take place in bjp

ऐसे में सवाल उठने शुरू हो गए हैं कि क्या राम माधव की टीम मौजूदा टीम को रिप्लेस करेगी? माना जा रहा है कि लोकसभा चुनाव से पहले संगठन स्तर पर भी बड़े बदलाव की कोशिश की जा रही हैं। इसमें राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की क्या भूमिका होती है ये देखने वाली बात होगी पर फ़िलहाल पार्टी के कार्यकर्ताओं में (जो इस बैठक में मौजूद थे) इस चर्चा को लेकर असमंजस की स्थिति है और आधिकारिक व्यवस्था से अलग ‘इंडिया फ़ाउंडेशन’ के बैनर तले बन रही टीम को लेकर मीडिया के गलियारों में सुगबुगाहट तेज होने लगी है।

शुभ्रस्था की मौजूदगी को लेकर संकेत साफ है कि संगठन आगामी चुनाव में कुछ बड़े बदलाव करने की तैयारी में है। ग़ौरतलब है कि आइटी प्रकोष्ठ के हेड अमित मालवीय हैं और हाल ही में वो विवादों में रहे हैं जिसके कारण पार्टी की काफी किरकिरी भी हुई है।इंडियन फाउंडेशन के नाम पर बुलाई गई इस बैठक में रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण और विदेश मामलों के राज्य मंत्री एमजे अकबर भी शामिल रहे थे। सूत्रों ने ये भी बताया कि बैठक के दौरान अफरातफरी के माहौल के बाद सभी को पार्टी कार्यालय ले जाया गया जहां राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह हुई थी।



Source link